मेम्बर बने :-

Monday, June 19, 2017

मित्र मंडली - 24



मित्रों ,
"मित्र मंडली" का चौबीसवां अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है।  इसमें  दिनांक 12.06.2017  से 18.06.2017  तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।

पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है  :-HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML
"खेद है कि तकनीकी कारणों से ग्यारहवीं कड़ी उपरोक्त लिंक पर उपलब्ध नहीं है।" 

मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी  के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली - 24 

इस सप्ताह की पाँच महिला रचनाकार 


पम्मी सिंह जी मूलतः बिहार (पटना ) से हैं। अपने पिताजी के कार्यकाल में हुए तबादलों के कारण, विभिन्न शहरों में शिक्षा ग्रहण किया।  प्रारंभिक शिक्षा राँची एवं उच्च शिक्षा दिल्ली में हुई। इनकी एक पुस्तक काव्याकांक्षा प्रकाशित हो चुकी है। इनकी कविताओं में, विभिन्न शहरों में रहने वाले लोगों की संवेदनाओं, जज्बातों एवं भावनाओं को आप सहज ही  महसूस कर सकते हैं। 


मीना शर्मा जी उच्च विद्यालय में शिक्षिका है। मेरा मानना है कि कामकाजी महिलाओं का जीवन, गृहणी की जीवन से कठिन होती  है। ऐसे में कामकाजी महिलायें, समाज के प्रति ज्यादा संवेदनशील होती है, परन्तु उस संवेदना को साहित्य के रूप में लिख कर प्रकट करना एक जीवट का कार्य है। इन्होंने, अपना एक वर्ष ब्लॉग का पूरा किया है।  इनके जज्बें को मेरा सलाम है। 


**संघर्ष -यानि संग-हर्ष जियो **


सुख-दुख



आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा । आपका सुझाव अपेक्षित है। लम्बी छुट्टी के कारण अगला अंक 10-07-2017  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....

मेरी दो  पेशकश :-

फोटोग्राफी : पक्षी 16 (Photography : Bird 16)




महबूब - एक ग़ज़ल 

Post a Comment